हस्त -रेखा सिद्धि हेतु पंचांगुली देवी मंत्र - Hast-Rekha Siddhi Hetu Panchanguli Devi Mantra

हस्त -रेखा सिद्धि हेतु पंचांगुली देवी मंत्र – Hast-Rekha Siddhi Hetu Panchanguli Devi Mantra

ॐ नमो पंचांगुली, पंचांगुली पराशरी, माता मंगल-वशीकरणी | लोह-मय-दण्ड-मणिनी, चौंसठ काम विहणडनी विहण्डनी |राणमध्ये, राउल-मध्ये, शत्रु मध्ये, दीवान-मध्ये, डाकिनी-मध्ये, प्रेत-मध्ये, पिशाच-मध्ये, झोटिंग-मध्ये, डाकिनी-मध्ये, शाकिनी-मध्ये, याक्ष याक्षिणी -मध्ये, दोषणी मध्ये, शोकणी मध्ये, गुणी-मध्ये, दुष्ट -मध्ये गारुड़ी मध्ये, विनारी-मध्ये, दोष-मध्ये, दोषाशरण-मध्ये, दुष्ट-मध्ये | घोर-कष्ट मुझ ऊपर बुरो जू कोई करावे, जड़-जाड़वे ततचिन्ते- चिन्तावे | तस माथे श्री माता पंचागुंली देवी तणो वज्र निर्धार पड़े | ॐ ठ: ठ: ठ: स्वाह ||

Read more about हस्त -रेखा सिद्धि हेतु पंचांगुली देवी मंत्र – Hast-Rekha Siddhi Hetu Panchanguli Devi Mantra

कण्ठ-वास हेतु माँ सरस्वती का मंत्र - Kanth Vaas Hetu Maa Saraswati Mantra

कण्ठ-वास हेतु माँ सरस्वती का मंत्र – Kanth Vaas Hetu Maa Saraswati Mantra

ॐ सरस्वती – स्वरासाती, स्वरासाती मेरी माँ |
सत् गुरु बन्धो पार, जसान देव राढ़ा |
गौरी-पारवती, महादेव, ढुण्ढराज, विश्वनाथ, काल-भैरव, कोतवाल |
भीम-नकुल-सहदेव,अर्जुन-धर्मराज |
राजा राजचन्द्र-महावीर, ज्वालामुखी- हिंगलाज-दुर्गा-महाकाली |
गुरु का वचन न जाय खाली |

श्री गंगा, राजा रामचन्द्रजी, पाँची पण्डवा, छठे नारायण निरंकार |
महादेव जी गौरा पारवती, महावीर हनुमान जी |
कउने वरण का अक्षत, देखभाल |
दांड देइवी, चउवा चारपाया का नुकसान|
मनई दुःखी कि लड़िका -जनाना,कि घर लुटगा -कि चोरी होई गइ|
जगदम्बामूल अक्षर दया बताई||

Read more about कण्ठ-वास हेतु माँ सरस्वती का मंत्र – Kanth Vaas Hetu Maa Saraswati Mantra

सर्व-कार्य सिद्धि दायक दत्तात्रेय मंत्र - Sarva-Karya Siddhi Daayak Dattatreya Mantra

सर्व-कार्य सिद्धि दायक दत्तात्रेय मंत्र – Sarva-Karya Siddhi Daayak Dattatreya Mantra

ॐ परब्रह्म परमात्मने नम: |
उत्पति स्थिति प्रलय कराय, ब्रह्म हरिंराय त्रिगुणात्मने सर्व कौतुक दर्शय दर्शय दतात्रायाय: नम: |
मंत्र तंत्र सिद्धि कुरु कुरु स्वाहा ||

Read more about सर्व-कार्य सिद्धि दायक दत्तात्रेय मंत्र – Sarva-Karya Siddhi Daayak Dattatreya Mantra

सर्व-कार्य सिद्धि हेतु भैरव मंत्र - Sarva-Karya Siddhi Hetu Bhairav Mantra

सर्व-कार्य सिद्धि हेतु भैरव मंत्र – Sarva-Karya Siddhi Hetu Bhairav Mantra

भैरो उचके भैरो कूदे भैरो सोर मचावे ||
मेरा ……. अमुक कार्य ……. ना करे तो कालिका का पूत न कहावे |
शब्द साँचा, पिण्ड काँचा | फुरे मंत्र ईश्वरो वाचा ||

Read more about सर्व-कार्य सिद्धि हेतु भैरव मंत्र – Sarva-Karya Siddhi Hetu Bhairav Mantra

धन-वृद्धि कारक पद्मावती मंत्र - Dhan-Vrddhi Kaarak Padmavati Mantra

धन-वृद्धि कारक पद्मावती मंत्र – Dhan-Vrddhi Kaarak Padmavati Mantra

ॐ नमो भगवती पद्म पद्मावती, ॐ ह्रीं ॐ, ॐ पूर्वाय दक्षिणाय पश्चिमाय उतराय आष सर्वजन वश्य कुरु कुरु स्वाहा ||

Read more about धन-वृद्धि कारक पद्मावती मंत्र – Dhan-Vrddhi Kaarak Padmavati Mantra

ऋद्धि-सिद्धि - दायक श्री गणेश मंत्र - Riddhi-Siddhi - Daayak Shree Ganesh Mantra

ऋद्धि-सिद्धि – दायक श्री गणेश मंत्र – Riddhi-Siddhi – Daayak Shree Ganesh Mantra

ॐ नमो आदेश गुरु का | गणपति बीर , बसे मसाने | जो-जो
माँगू, सो सो आण | पाँच लाडू, सिर सिन्दूर, हाटि का माँटी,
मसाण की खेप | ॠद्धि सिद्धि मेरे पास भयावे | शब्द साँचा,
पिण्ड काँचा | फुरो मंत्र ईश्वरो वाचा ||

Read more about ऋद्धि-सिद्धि – दायक श्री गणेश मंत्र – Riddhi-Siddhi – Daayak Shree Ganesh Mantra

सर्व कार्य सिद्धिदायक हनुमान मंत्र - Sarv Karya Siddhidayak Hanuman Mantra

सर्व कार्य सिद्धिदायक हनुमान मंत्र – Sarv Karya Siddhidayak Hanuman Mantra

पर्वत व्यायी अंजनी पुत्र जने हनुमंत, रोट लंगोट दरिया ही भुजा|
लोंग सुपारी जायफल पान का बीड़ा कोने लिया, या साहब जो लिया या किसको पूजा तेल |
हनुमान तो पूजा, सिन्दूर चढ़ाया किस अर्थ |
मूठा बंध वार बंध घोर बन्ध, तुष्ट बन्ध माठी बन्ध मसाणी बन्ध काली भेरव कलेजा बन्ध , कालू बंध दरवाजा बंध |
इतने को बंध, माता अंजनी | पिण्ड काँचा शब्द साँचा, फुरो मंत्र – ईश्वरो वाचा |
वाचे से टले तो खारे समुद्र में टले | कुम्भी पाक नर्क में गले, लोना चमारी के कुण्ड में गले ||

Read more about सर्व कार्य सिद्धिदायक हनुमान मंत्र – Sarv Karya Siddhidayak Hanuman Mantra

कार्य -सिद्धि हेतु श्री गणेश मंत्र - Kaary Siddhi Hetu Shree Ganesh Mantra

कार्य -सिद्धि हेतु श्री गणेश मंत्र – Kaary Siddhi Hetu Shree Ganesh Mantra

ॐ गनपत वीर ! बसे मसान, जो फल माँगूँ , फल आन |
गणपत देखे गजपत डरे , गनपत के छात्र से बादशाह डरे |
मुख देखे राजा – प्रजा डरे, हाथ चढ़े सिंदूर |
ओैलिया गौरी का पूत-गणेश! गुग्गुल की धरूँ ढेरी, रिद्धि-सिद्धि लाये गनपत घनेरी |
जय गिरनार – पति! ओम नमो स्वाहा ||

Read more about कार्य -सिद्धि हेतु श्री गणेश मंत्र – Kaary Siddhi Hetu Shree Ganesh Mantra